Home Womens Health Contraction and its types – संकुचन क्या है? संकुचन से किस तरह...

Contraction and its types – संकुचन क्या है? संकुचन से किस तरह महसूस होता है और संकुचन के प्रकार कितने है?

संकुचन मतलब शरीर से जन्म लेने वाले बच्चे को नीचे से बाहर की दुनिया में धकेलना होता है।यह एक जटिल प्रक्रिया है जो शुरू होती है जब  बच्चे का दिमाग माँ के शरीर को ये सन्देश देता है कि उसका दुनिया में आने का समय आ गया है

pregnacy

संकुचन के प्रकार

संकुचन के तीन प्रकार होते है

  • अभ्यास संकुचन :- अभ्यास संकुचन गर्भावस्था की अवधि के बाद किसी भी समय हो सकता है या नही भी हो सकता ।
  • झूटी संकुचन :- गलत संकुचन अनियमित है और सामान्य रूप से ये स्थिति बदलने के बाद बंद होती है कुछ गलत संकुचन  असली संकुचन को जन्म दे सकते है लेकिन वे ग्रीवा का कारण नही है
  • वास्तविक श्रम संकुचन :- वास्तविक श्रम संकुचन किसी भी स्थिति में हो सकता है, चाहे आप खड़े हो,बैठे हो या लेटे  हो I यह समय के साथ गंभीर , नियमित और लगातार हो जाते है I संकुचन के साथ साथ ऐठन, पेट की खराबी और दस्त भी हो सकता है  जब ये समस्या होती है तो पीठ में, पेट में और उपरी जांघो पर दर्द होता है  और पानी टूटने  के रूप में झिल्ली टूटने के साथ साथ खून भी निकल सकता है
  • समय संकुचन :- समय संकुचन एक उपयोगी तरीका है, यह खोजने के लिए कि बच्चा पैदा होने में कितना समय है। गर्भवती महिलाओ को गर्भावस्था के अंत में और पुरे श्रम अवधि के दौरान संकुचन होते है ये तब तक होते है जब तक शिशु का जन्म नही हो जाता इस दौरान गर्भाशय की  मांसपेशिया में खिचाव और ढीलापन समय समय पर होता है

समय संकुचन करने के लिए विधि :-

  • संकुचन को पहचानो – संकुचन हर महिला को एक अलग एहसास कराते है। कई महिलाओ द्वारा ये बयान किया जाता है, कि एक दर्द के रूप में ये वापस से शुरू होता है और पेट की ओर बढता है। दर्द शुरू में हल्का होता है और फिर यह ज्यादा हो जाता है और आखिर में कम होता है। संकुचन के दौरान पेट कठोर हो जाता है। श्रम की शुरुआत में संकुचन पहले 60-90 सेकंड के लिए होता है और फिर आखिर में 15-20 मिनिट के लिए होता है। आवृत्ति के रूप में ये अवधि कम हो जाती है और प्रसव आने के करीब ये बढ़ जाती है।
  • समय संकुचन – संकुचन के आकर को पहचानना है, तो संकुचन की आवृत्ति और अवधि पर ध्यान देना चाहिए। कभी कभी संकुचन एक मिनिट से पहले ही समाप्त हो जाता है तो इस स्थिति में सही समयमापक का होना बहुत जरुरी है I संकुचन शुरू होने और समाप्त होने का समय नोट कर लेना चाहिए दो संकुचन के बीच की अवधि पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। श्रम के ठीक पहले संकुचन एक निश्चित तरीके से होता है

यह जाने की  श्रम कब  शुरू होता है:- यह श्रम के संकेत का पालन करने के लिए आवश्यक है ये संकेत किसी भी स्थिति में संकुचन को तेज़ रखने में शामिल है और वे सेट के तरीके का पालन करते है। वे आवृत्ति में वृद्धि करते है और अधिक दर्दनाक बन जाते है श्रम के अन्य शारीरिक लक्षणों में पानी का टूटना और बच्चा गर्भाशय ग्रीवा के लिए नीचे कि ओर आगे बढना, शामिल है। इस दौरान गर्भाशय  ग्रीवा में खून निकलने का फैलाव भी है

यह जाने की जन्म की तैयारी कब करे:- प्रसव के समय होने वाली मजबूत संकुचन की अवधि 45 सेकंड और  3-4 मिनिट के बीच होती है।

संकुचन को ठीक कैसे करे

संकुचन गर्भाशय और ग्रीवा के आसपास के दवाब के कारण महसूस होता है। इस स्थिति में पेट नरम और कड़ा हो जाता है कुछ महिलाओ को यह महसूस होता है कि पेट में एक कड़ी मुट्ठी बन रही है ,कुछ मामलो में पेट के आसपास ये कस थोड़े दर्द के साथ असहज महसूस होती है। यह बच्चे को गर्भ में खींचने और गर्भाशय पर दवाब डालने की तरह महसूस  होता है। हर महिला के संकुचन का अलग अनुभव होता है 

अलग अलग महिलाओ में संकुचन के अलग अलग अनुभव

  • आमतौर पर संकुचन पीठ में कुछ परेशानी के साथ अवधि में दर्द का एक प्रकार है और जिससे पेट पहले से और मजबूत हो जाता है, ये दर्द एक निश्चित तरीके से होता है
  • कुछ महिलाओ के लिए संकुचन अवधि में बुरे दर्द की तरह है। ये पेट के निचले हिस्से और पीठ में ऐठन की तरह है।
  • कुछ महिलाए इस दर्द को पेट के कसने  के साथ महसूस करती है, यह कुछ सेकंड या एक मिनिट के लिए ही रहता है।
  • कई महिलाये संकुचन को पेट में हवा या गैस के रूप में महसूस करती है।
  • कुछ महिलाये संकुचन को मासिक धर्म में ऐठन जैसे धीरे धीरे महसूस करती है।

.

Similar articles

Leave a Reply