Home NATURAL SKIN CARE एलर्जी (Allergy) : How Ayurveda Help In Any Kind Of Allergy|

एलर्जी (Allergy) :How Ayurveda Help In Any Kind Of Allergy|

 

 

allergy
किसी तरह के भोजन से या प्रदूषण के कारण जब शरीर में दाने आदि निकल आते हैं या उसके शरीर में सूजन पैदा हो जाती है तो उसे एलर्जी कहते हैं। एलर्जी के कारण शरीर पर होने वाली आम प्रतिक्रियाएं इस प्रकार हैं जैसे-अस्थमा (दमा), राइनाटिस (नासाशोध), एक्जिमा, शरीर पर दाग-धब्बे निकल जाना, माईग्रेन (आधे सिर का दर्द), पाचन सम्बंधी विकार (भोजन पचने में परेशानी)।
यह रोग ज्यादा नमक खाने से, खटाई खाकर यात्रा करने पर, शरीर पर मिट्टी लगने से, अधिक सोड़े वाले साबुन का प्रयोग करने से, बीमारी की हालत में अधिक मैथुन करने से, हाथी, घोड़े आदि की सवारी करने पर हो जाता है। ऊंचाई के कारण शरीर में वायु प्रवेश हो जाती है, जिसकी वजह से भी शरीर में एलर्जी या शोथ (सूजन) का रोग हो जाता है। यह रोग उन स्त्री-पुरुषों को अधिक होता है, जिनकी त्वचा अधिक नाजुक तथा मुलायम होती है।

एलर्जी के रोग में धूम्रपान और शराब पीना बन्द कर देना चाहिए।
एलर्जी के रोग में भोजन में किसी तरह की चीजों की मिलावट नहीं करनी चाहिए।
एलर्जी के रोग में पुराने रखे हुए और डिब्बे में बन्द चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
एलर्जी के रोग में मांसाहारी चीजों का प्रयोग बिल्कुल न करें।
कॉफी, चाय, चाकलेट जैसे पीने वाले पदार्थों का सेवन एलर्जी के रोग में नहीं करना चाहिए।
एलर्जी के रोग में शहद, चीनी और शर्बत इत्यादि को अपने रोजाना के भोजन से दूर ही रखना चाहिए।
उपचार :
शरीर में जहां पर भी सूजन आई हो वहां पर करेले का रस मलने से आराम मिलता है। करेले में जरा सा नमक मिलाकर सेवन भी करने से लाभ मिलता है।
गर्मियों के मौसम में तरबूज के रस में कालानमक डालकर खाने से एलर्जी के रोग में लाभ होता है।
शरीर में जहां पर एलर्जी हो उस स्थान पर कच्चे आलुओं का रस लगाने से लाभ होता है।
सीताफल के बीजों को पीसकर शहद के साथ सुबह, दोपहर और शाम तीनों समय चाटने से एलर्जी के रोग में आराम होता है।
रात को सोने से पहले 1 गिलास साफ पानी में 100 ग्राम मेंहदी के सूखे पत्ते भिगो दें। सुबह इस पानी को छानकर पीने से शरीर मे शीतलता (ठंड़क) के साथ-साथ खून भी साफ हो जाता है। इस पानी का सेवन करने से विजातीय द्रव्य शरीर से बाहर निकल जाते हैं। एलर्जी वाले रोगियों के लिये यह बड़ी गुणकारी औषधि है।
चम्मच अदरक के रस में 4 ग्राम पुराना गुड़ मिलाकर खाने से एलर्जी का रोग दूर हो जाता है।
अदरक के रस में थोड़ा सा जीरा तथा पुराना गुड़ मिलाकर सेवन करने से एलर्जी का रोग ठीक हो जाता है।
नीम की छाल, आक (मदार) के पत्ते तथा पुनर्नवा को एकसाथ मिलाकर 2 कप पानी में उबालने के लिए रख दें। उबलने पर जब पानी आधा कप बचा रह जाये, तो उसमें थोड़ी सी मिश्री डालकर पीने से एलर्जी रोग जल्दी दूर हो जाता है।
मटर को पानी में उबालकर उसके दानों को निकालकर फेंक दें। फिर उस पानी में थोड़ा-सा नमक मिलाकर पूरे शरीर को साफ करने से एलर्जी के रोग में लाभ होता है।
अनानास का रस एलर्जी वाले स्थान पर लगाने और पीने से एलर्जी ठीक हो जाती है।
100 ग्राम शलजम को पानी में उबाल लें। फिर उस पानी को ठंड़ा करके शरीर पर मालिश करने से एलर्जी के रोग में आराम आता है।
2 चुटकी सौंठ के चूर्ण को करेले के रस में मिलाकर खाने से एलर्जी के रोग में पूरा लाभ होता है।
शरीर पर नारियल या तिल्ली के तेल की मालिश करने से एलर्जी के रोग में आराम आता है।
नहाते समय पानी में गुलाबजल डालकर नहाने से एलर्जी का रोग ठीक हो जाता है।
मेथी की पत्तियों को पीसकर एलर्जी वाले स्थान पर लगाने से लाभ होता है।
तारपीन के तेल को सरसों के तेल में मिलाकर शरीर पर मालिश करने से एलर्जी के रोग में लाभ होता है।
4-4 ग्राम दन्ती, सौंठ, निशोथ, कालीमिर्च, पीपल और चीता को एक साथ मिलाकर 1 कप पानी में डालकर काढ़ा बनाने के लिए आग पर रख दें। काढ़ा जब पकते-पकते आधा कप बचा रह जाए, तो उसमें थोड़ा सा पुराना गुड़ डालकर खाने से एलर्जी के रोग में लाभ होता है।.

Leave a Reply